आमंत्रण एवं संपर्क

नमस्कार

मित्रो!

यह ब्लॉग दुनिया भर में बसे सृजनशील एवं तकनीकी रूप से कुशल ऐसे भारतीयों के साथ परस्पर संवाद और सहयोग का एक मंच है जो भारत को विकसित राष्ट्रों की अग्रिम पंक्ति में लाना चाहते हैं।

यदि आप किसी भी कला, शिल्प अथवा प्रौद्योगिकी में सृजनात्मक अभिरुचि रखने वाले तकनीकी रूप से कुशल व्यक्ति हैं और अपने भीतर समानता, स्वतंत्रता और मित्रवत सहयोग पर आधारित एक नई विश्व व्यवस्था के विकास के लिए प्रतिबद्धता तथा परस्पर संवाद और सहयोग की स्व-प्रेरणा और उत्साह का अनुभव करते हैं तो आपका हार्दिक स्वागत है।

© सृजन शिल्पी, सर्वाधिकार सुरक्षित

यदि आप महसूस करते हैं कि यह ब्लॉग समकालीन बौद्धिक विमर्श में सार्थक हस्तक्षेप करने का ईमानदारी से प्रयास कर रहा है और आप इस प्रयास में सहयोगी बनने की आत्म-प्रेरणा का अनुभव करते हैं तो आपका हार्दिक स्वागत है।

आप इस ब्लॉग पर व्यक्त विचारों एवं संवेदनाओं पर खुलकर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कीजिए और अपने प्रखर एवं रचनात्मक विचारों से निरंतर अवगत कराते रहिए।

आप किसी भी रूप में सृजन शिल्पी के प्रयासों में सहभागी बन सकते हैं। आपका सहयोग उपयुक्त समय पर आपके पास उसी तरह वापस लौट आएगा जैसे सतत प्रवाहित नदी में जल की आपूर्ति अनवरत कायम रहती है।

सृजन शिल्पी आपको अपनी रचना, लेख आदि के प्रकाशन के लिए खुला मंच भी प्रदान करता है। राष्ट्रीय सरोकारों से जुड़े मुद्दों पर किसी आयोजन के संबंध में प्रेस विज्ञप्ति भी हमें प्रकाशनार्थ भेजी जा सकती है।

कृपया ई-मेल से SRIJANSHILPI @ . com पर संपर्क करें और यथासंभव हिन्दी में लिखने का प्रयास करें।

आप चाहें तो साइड बार में मौजूद बैज़ पर क्लिक करके फेसबुक पर मित्र के रूप में जुड़ सकते हैं और फेसबुक पृष्ठ को पसंद कर सकते हैं, अथवा ट्विटर पर भी फोलो कर सकते हैं।

17 Responses to आमंत्रण एवं संपर्क

  1. Akshay Ameria says:

    पढ़ कर अच्छा लगा। अपने कुछ चित्र सृजनशिल्पी के लिए भेज रहा हूं।

  2. आमन्त्रण स्वीकार है। अब जिम्मेदारी कब पूरी कर पाते हैं यह समय तय करेगा।

  3. Dr. Chandra Kumar Jain says:

    please correct misspelled words in the above response.very soon i shall try to type in hindi also.
    —————-
    @ डॉ. चन्द्र कुमार जैन

    पहले की टिप्पणी को देवनागरी में लिप्यंतरित कर दिया गया है। आगे से देवनागरी लिपि में आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा।

  4. Dr. Chandra Kumar Jain says:

    आपसे जुड़ना सौभाग्य होगा।
    कृपया मेरे ब्लॉग पर गौर कीजिएगा। शायद आपकी पसंद का हमराह हो। पता है:
    chandrakumarjain.blogspot.com

    यह भी कि सृजन शिल्पी को देखकर अब ब्लॉग पर नियमित लिखने की कोशिश जारी रहेगी। आपका शुक्रिया।

  5. vivek kumar says:

    hi i knew about you just now. i am, too, a poet writer. i want to join u . what wll i do for this? please instruct me.

    vivek, dumka, jharkhand

  6. हम तो आपसे पहले ही जुड़ चुके हैं । आज अचानक फिर मनुहार पाती पाई सो फिर आ गए हैं। बताइये , क्या आदेश , निर्देश है।

  7. sanjay kuldeep says:

    plees add this in your list

  8. अखिल भारतवर्षीय मारवाड़ी सम्मेलन का मुखपत्र है, आप इसके सदस्य बन सकते हैं। इसमें अपने सामाजिक लेख, कविता, मारवाडी़ समाज की धरोहर से संबंधित कोई जानकारी, या फिर समाज से जुडी़ कोई समाचार, कार्यक्रम की जानकारी, मारवाड़ी साहित्यकारों की जानकारी आदि भेज सकते हैं।-शम्भु चौधरी,सहयोगी सम्पादक पता: 152-बी, महात्मा गांधी रोड, कोलकाता-700007

  9. please add this site in your list

  10. सृजन शिल्पी को देखकर यह संतोष हुआ कि हिन्दी हिन्दुस्तान को जोड़ने का जो कार्य करती रही है वह अभी जारी है। आपके इस प्रयास के लिए हार्दिक शुभकामनाएँ।

    - स्वामी अमृतानन्द तीर्थ

  11. vikas awasthi says:

    hello,

    i want to jopin your group.

  12. ऐसे ख्यालात से कौन नहीं जुड़ना चाहेगा, हम तो उधर ही चलेंगे जिधर रोशनी होगी। अपना ही समझिये।

  13. आपसे जुड़ कर असीम प्रसन्नता होगी.
    आप ही सुझाएं कैसे बने आपसे नाते-रिश्ते.
    संजय

  14. rahul says:

    hi i m rahul and i have to join this web site.

  15. dharmesh says:

    i’m a writer, (novel author!}.

  16. saroj thakur says:

    I found this group to be one of my liking and would like to join it.

  17. समस्त शुभकामनाओं के साथ ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

देवनागरी में टंकण के लिए नीचे अ दबाएं. (To type in roman, press Ctrl+G)